Top 10 Amazing Benefits Of Suryanamskaar In Hindi #2021

/ / / Top 10 Amazing Benefits Of Suryanamskaar In Hindi #2021

सूर्य नमस्कार को सर्वश्रेष्ठ योगासन के रूप में जाना जाता है इसका मतलब है सूर्य को नमस्कार
करना। प्राचीन समय से ही हमारे धर्म ग्रंथों में योग को लेकर उल्लेख मिलता है और प्राचीन समय से
ही हमारे ऋषि मुनि सूर्य नमस्कार योग आसन को करते थे।

amazing Benefits Of Suryanamskaar

दोस्तों अगर आप खुद को कम समय देखकर स्वस्थ रखना चाहते हैं तो सूर्य नमस्कार आपके लिए सबसे बेहतरीन योगासन है। रोजाना 15 से
20 मिनट सूर्यनमस्कार योगासन करना हमें पूरी तरह से परिवर्तित कर सकता है प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करने से हम शारीरिक व
मानसिक तौर पर खुद को मजबूत बना सकते हैं। सूर्य नमस्कार जो कि 12 आसनों का मेल है ज़िन 12 आसनों से शरीर का हर एक भाग खुल
जाता है इसीलिए आज हम सूर्य नमस्कार के कुछ हैरान करने वाले फायदे आपको बताएंगे जिनके बारे में जानकारी लेना आपके लिए
जरूरी है।

नोट -यदि आपकी किसी लम्बी बिमारी या chronic disease या फिर हड्डियों की दुर्बलता /bone weakness के कारण शरीर में
कमजोरी रहती हो तो इस स्तिथि में सूर्य नमस्कार ना करें ऐसी स्तिथि में आपको डॉक्टर का परामर्श लेना बहुत ही ज़रूरी
है।

सूर्य नमस्कार से होता है वजन कम

सूर्य नमस्कार  करने से शरीर के हर एक भाग पर जोर पड़ता है
जिससे उस भाग की चर्बी धीरे-धीरे कम होने लगती है। जो लोग मोटापे से जूझ रहे हैं उन्हें सूर्य
नमस्कार करना चाहिए। हर दिन मात्र 15 से 20 मिनट किया गया सूर्य नमस्कार  आपको मोटापे से
राहत दिला सकता है और आपको एक आकर्षक व्यक्तित्व का मालिक बना सकता है।

पाचन क्रिया होती है मजबूत

रोज कुछ मिनट सूर्य नमस्कार करने से पाचन क्रिया में तेजी से सुधार होता है।अगर आपको खाना
पचाने में दिक्कत होती है या आपके पेट में गैस बन जाती है तो आपको हर रोज प्रतिदिन सूर्य नमस्कार

करना चाहिए। सूर्य नमस्कार करने से पाचन क्रिया मजबूत होती है और साथ ही गैस और कब्ज जैसी
बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है।

शरीर की बनावट में सुधार

दोस्तों कोई योगा आसान करने से पहले  लोगों का शरीर अलग तरह का होता है लेकिन जैसे ही वे लोग
सूर्य नमस्कार या कुछ और आसन करना शुरू कर देते हैं तो वैसे ही उनके शरीर में एकाएक परिवर्तन आने
लग जाता है। सूर्य नमस्कार करने से शरीर की बनावट पूरी तरह से बदल जाती है।  सूर्य नमस्कार करने
से हमारा शरीर एक अच्छे ढांचे को पा लेता है जिस कारण हम लोगों के बीच में जाने से अच्छा महसूस
करते हैं।

तनाव को दूर करता है सूर्य नमस्कार

आज के समय में हर दूसरा इंसान मानसिक तनाव को लेकर परेशान रहता है जिस कारण वह अपने
रोजमर्रा के काम भी ठीक से नहीं कर पाता। वैसे तो कई सारे योगासन तनाव को दूर करने में मदद
करते हैं जैसे -अनुलोम विलोम, कपालभाति और यहां तक कि मेडिटेशन करना भी।  सूर्यनमस्कार तनाव
को दूर करने का महत्वपूर्ण योग है  सूर्यनमस्कार करते वक्त लंबी सांसे भर नी चाहिए जिससे पूरा शरीर
रिलैक्स हो जाए इसे करने से बेचैनी,अशांति,तनाव दूर होता है और दिमाग काफी हद तक शांत हो जाता
है। तनाव को दूर करने के लिए सबसे जरूरी मैं आपको ध्यान करना बताऊंगा। ध्यान करने से  हमारे
शरीर के पूरे चक्र जागृत होने लग जाते हैं जिससे तनाव तो कम होता ही है इसके अलावा हमारी बुद्धि
का भी विकास होता है।

अनिद्रा को दूर करने में सहायक

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी के कारण ज्यादातर लोग रात को ठीक से सो नहीं पाते और कुछ लोग
तो पूरी रात भर जगे रहते हैं.। जिन लोगों को अनिद्रा की समस्या है उनके लिए सूर्य नमस्कार किसी
वरदान से कम नहीं है। प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करने से शरीर में ब्लड सर्कुयु लेशन अच्छा हो जाता है
जिससे रात को अच्छी नींद आती है।  नींद एक ऐसा जरिया है जो हमारे स्वस्थ दिमाग के लिए सबसे
उपयोगी आहार है अगर हम ठीक से सो नहीं पाएंगे तो ठीक से काम भी नहीं कर पाएंगे इसीलिए दिमाग
को स्वस्थ बनाने के लिए  पूरी नींद लेना जरूरी है और पूरी नींद लेने के लिए सूर्य नमस्कार करना भी
जरूरी है।

त्वचा को खूबसूरत और चमकदार बनाए

दोस्तों आपने अक्सर कई पॉपुलर अभिनेत्रियों को सूर्य नमस्कार योग करते हुए टीवी पर देखा होगा कई
सारी अभिनेत्री तो 40 से 50 साल की हो जानें पर भी  25 से 30 साल की लगती है आप यहां पर
शिल्पा शेट्टी का एग्जांपल ले सकते हैं। बॉलीवुड अभिनेत्रियां  अपनी फ़िटनेस पर ध्यान देते हुए हर रोज
सूर्य नमस्कार करती है।  अगर आप भी हर रोज 20 से 25 मिनट सूर्य नमस्कार करते हो तो आपकी
त्वचा भी चमक उठेगी। जो लोग प्रतिदिन सूर्य नमस्कार  करते हैं उनका चेहरा चमक उठता है।
सूर्य नमस्कार करने से हमारा ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है और साथ ही हमारे पूरे बॉडी पार्ट्स एक्टिव
हो जाते हैं इसीलिए सूर्य नमस्कार करना हमारे लिए और हमारी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है।

मन की एकाग्रता बढ़ती है

योगा या सूर्य नमस्कार करने से हमारे मस्तिष्क की एकाग्रता बढ़ती है। प्रतिदिन नमस्कार करना हमारे
दिमाग व शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है इससे हमारा दिमाग स्ट्रेस से दूर हो जाता है और
अध्यात्म की ओर जाने लगता है जिससे हम योगा व इसके महत्व को  गहराई से समझने लग जाते हैं।
प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करने से हम बुरे विचारों से दूर हो जाते हैं और अच्छे विचार हमारे दिमाग में
अपना घर बना लेते हैं जिससे एक सकारात्मक सोच का निर्माण होता है।

जोड़ों के दर्द में राहत

आज के समय में 50 वर्ष से ऊपर के आयु के लोगों के हाथ पैरों में दर्द रहता है, और यही नहीं काफी
लोग तो 40 वर्ष की उम्र में भी जोड़ों के दर्द से परेशान हो जाते हैं। सूर्य नमस्कार जोड़ों के दर्द को दूर
करने के लिए एक ऐसा रामबाण उपाय है जिसे प्रतिदिन 15 से 20 मिनट करने पर हर तरह के जोड़ो
के दर्द में राहत मिलती है। मात्र 1 हफ्ते ही सूर्य नमस्कार करने से  तमाम तरह के जोड़ों के दर्द खुद ब
खुद गायब होने लगते हैं।

ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है

सूर्य नमस्कार करते वक्त हमारे शरीर के हर एक भाग का प्रयोग होता है जिससे कि  हमारी सारी
ग्रंथियां एक्टिव हो जाती और खून का दौर तेज हो जाता है।  शरीर में खून के दौर के तेज होने के
कारण हम सारा दिन अपने आप को ऊर्जावान महसूस करते हैं। हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन के ठीक
होने पर हमारा चेहरा भी चमक उठता है और ब्लड सरकुलेशन के सही होने पर हमारा शरीर भी आकर्षक
लगने लगता है।

अनियमित मासिक धर्म के लिए जरुरी

महिलाओं को अक्सर अनियमित मासिक धर्म जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अनियमित
मासिक धर्म जैसी समस्या होने पर महिलाओं को हर रोज सूर्य नमस्कार करना चाहिए। महिलाओं को
पीरियडस सही समय पर ना होने की वजह से बहुत सारी समस्याएं होती हैं ऐसे में नियमित पीरियड्स के
लिए सूर्य नमस्कार करना बेहद ही लाभदायक है।

दोस्तों तो देखा आपने हर रोज कुछ मिनट सूर्य नमस्कार करने से क्या होता है! आशा करता हूं कि यह
जानकारी पढ़कर आप भी हर रोज सूर्य नमस्कार करेंगे और खुद को शारीरिक व मानसिक तौर पर
मजबूत बनाएंगे!धन्यवाद।।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *