Top 10 Amazing Benefits Of Shilajit In Hindi #2021

/ / / Top 10 Amazing Benefits Of Shilajit In Hindi #2021

शिलाजीत पहाड़ों में पाए जाने वाला एक खनिज पदार्थ है जो औषधि के रूप में भी कार्य करता है।
शिलाजीत ज्यादातर  हिमालयी क्षेत्रों में पाया जाता है। माना जाता है कि शिलाजीत अनेकों प्रकार की
औषधिय गुणों से भरपूर होता है और शरीर में कई प्रकार की बीमारी से लड़ने में सक्षम होता है। माना
जाता है कि शिलाजीत के सेवन से मर्दानागी बढ़ती है। यह एक दुर्लभ पदार्थ है जो हजारों वर्षों से पौधों
और पौधों की सामग्री के विघटन से बनता आया है ।  शिलाजीत ऊंचे पथरीले पहाड़ों पर होता है
इसीलिए इतना दुर्गम होता है। प्राचीन काल से ही भारत ने पारंपरिक औषधि के तौर पर शिलाजीत का
इस्तेमाल किया जाता है। यहां तक कि आयुर्वेद में शिलाजीत को रसायन शक्तिवर्धक भी कहा गया है।
शिलाजीत का संपूर्ण अर्थ है “पहाड़ों को जीतने वाला “और “कमजोरी को दूर करने वाला पदार्थ”। आप
इन्हीं सब बातों से अंदाजा लगा सकते हैं कि शिलाजीत सेहत के लिए कितना लाभदायक है।शिलाजीत
स्त्री और पुरुष दोनों के लिए लाभदायक है इसीलिए आज हम शिलाजीत से जुड़े हुए Top 10 benefits
के बारे में आपको जानकारी देंगे।

नोट – शिलाजीत एक ऐसा पदार्थ है जिससे गोमूत्र जैसी गंध आती है, शिलाजीत का ज्यादा सेवन आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। शिलाजीत के सेवन से शरीर में गर्मी उत्पन्न होती है इसीलिएइसका सेवन विशेषज्ञों या डॉक्टरों की सलाह पर ही करें।

Top 10 benefits of shilajit in hindi

1- एनीमिया के रोगियों के लिए बेहतर

एनीमिया रोग शरीर में खून की कमी के कारण होता है।इस रोग के कारण रोगी को बहुत ज्यादा थकान
लगती है और उसे समय-समय पर चक्कर भी आने लग जाते हैं। आपको शायद जानकर हैरानी होगी कि
शिलाजीत रक्त को बनाने का काम करता है जो शरीर के लिए बेहद ही ताकतवर औषधि है।

एनीमिया के रोगियों को सामान्य रूप से सांस लेने में भी समस्या होती है ऐसे में शिलाजीत  का सेवन
उनकी इस समस्या का भी समाधान कर देता है। शिलाजीत में आयरन भी पाया जाता है इस प्रकार
शिलाजीत आयरन की कमी को भी दूर कर देता है जिससे एनीमिया के इलाज में सहायता मिलती है।
अगर आप नियमित रूप से  थोड़ा -थोड़ा शिलाजीत का सेवन करते हैं तो इससे आपको एनीमिया जैसे
रोग से लड़ने की शक्ति मिलेगी।

2- डायबिटीज के रोगियों के लिए बेहतर

अभी पूरी दुनिया में आधे से ज्यादा लोग मधुमेह जैसी बीमारी से पीड़ित है । शिलाजीत का सेवन
मधुमेह जैसी बीमारियों को भी दूर कर सकता है। शिलाजीत खून में शर्करा के स्तर को नियंत्रित रखता है
और मधुमेह में सुधार लाता है इसीलिए शिलाजीत का एक नाम मधुमेह  विनाशक भी है।
शिलाजीत मधुमेह न्यूरोपैथी का भी एक निवारण है। शिलाजीत हृदय को मजबूत रखता है और प्रतिरक्षा
प्रणाली को मजबूत कर हमारे स्वास्थ्य में सुधार लाता है, शिलाजीत का नियमित रूप से उपयोग हमारे
शरीर को स्वस्थ और बलवान बनाता है।

3- योन शक्ति को बढ़ाने में शिलाजीत का सेवन उत्तम

शिलाजीत को ऊर्जा या शक्ति वर्धक औषधि के नाम से भी जाना जाता है। प्राचीन काल से ही इसका
सेवन कमजोरी  को दूर करने और अन्य यौन संबंधी समस्याओं के निवारण के लिए किया जाता रहा है
।  यह कोशिकाओं को पुनर्जीवित कर पुरुषो और महिलाओ के शारीरिक कमजोरी के लक्षण को दूर कर
देता है। अगर आपको यौन संबंधी कोई समस्या है तो इसके सेवन से आपके शरीर में फुर्ती आ जाएगी
और  आपका शरीर शक्तिवर्धक बन जाएगा। इसका सेवन पुरुष और महिलाएं दोनों ही कर सकते हैं

4- ब्लड प्रेशर को करे नियंत्रित

अगर आपको भी बढ़ते ब्लड प्रेशर के कारण कोई समस्या आती है तो आप ऐसे में शिलाजीत का सेवन
कर सकते हैं।  क्योंकि अक्सर देखा गया है कि बढ़ते ब्लड प्रेशर के कारण लोगों को गुस्सा ज्यादा आता

है जिसका असर सीधे तौर पर हमारे दिमाग पर पड़ता है। बढ़ते ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए
शिलाजीत को बेहतर औषधि के रूप में माना जाता है। कई रीसर्च में मिलता है कि शिलाजीत के
औषधीय गुणों में से एक इसका एंटीहाइपरटेंसिव ( ब्लड प्रेशर को कम करने वाला ) प्रभाव भी है। और
इसी औषधीय गुण के कारण शिलाजीत ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। बढ़तें ब्लड प्रेशर की
समस्या से जूझ रहे लोगों को आवश्यकता अनुसार नियमित रूप से  शिलाजीत का सेवन जरूर करना
चाहिए।

5- आर्थराइटिस की समस्या को दूर करने में सक्षम

शिलाजीत का सेवन यदि अश्वगंधा के साथ मिलाकर किया जाए तो यह एक चमत्कारी औषधि के रूप में
कार्य करता है जो आर्थराइटिस की समस्या को दूर भगाने में सक्षम है। शिलाजीत को लेकर एक शोध जो
एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेकनिकल इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर उपलब्ध है  में यह पता
चलता है। इस शोध के परिणामों में पता चलता है कि यदि अश्वशिला नाम की एक आयुर्वेदिक दवा को
यदि अश्वगंधा और शिलाजीत दोनों के साथ मिलाया जाता है, तो यह बेहद ही फायदेमंद साबित हो जाता
है। इस शोध में यह भी पता चलता है कि शिलाजीत में सेलेनियम पाया जाता है और इसी सेलेनियम के
कारण इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी यानि कि सूजन को कम करने वाला तत्व मौजूद होता है। और यही एंटी
इन्फ्लेमेटरी तत्व आर्थराइटिस में राहत दिलाता है।

6- बढ़ते कोलस्ट्रोल  को कम करें

अगर हमारे बॉडी में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाए तो  हम जल्दी ही थक जाते हैं और थोड़े से काम में
हमारी सांस फूलने लग जाती है ।शिलाजीत का दूध के साथ सेवन करने से यह बढ़ते कोलेस्ट्रोल को
रोकता है। शिलाजीत के प्रभाव को लेकर कई शोध भी किए गए हैं और इन सभी शोधो में जिक्र मिलता
है कि शिलाजीत का अहम् गुण कोलेस्ट्रोल, ट्रिगलिसेराइट  और हाई लिपोप्रोटीन को सुधारना है।
शिलाजीत के इन्ही गुणो के कारण  यह बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सक्षम है। इसीलिए आपका
कोलस्ट्रोल यदि बढ़ा हुआ है तो आप शिलाजीत का सेवन अवश्य करें।

7- मूत्र संबंधी समस्याओं से दिलाएगा छुटकारा

मूत्र संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए आप शिलाजीत का सेवन कर सकते हैं।यदि आप गर्म पानी
और दूध के साथ शिलाजीत का सेवन करेंगे तो आपके मूत्र से संबंधित सभी समस्याओं का समाधान हो
जाएगा। इंटरनेशनल ज़र्नल ऑफ  आयुर्वेदा रिसर्च ने एक शोध किया था जिसमें पाया गया कि शिलाजीत
में प्रतिरोधक  क्षमता को बढ़ाने वाला गुण इम्यूनोस्ट्यूमुयुलेंट पाया जाता है। और इसी एक गुण के
कारण शिलाजीत मूत्र संबंधी सभी समस्याओं का समाधान करने के रूप में एक महत्वपूर्ण औषधि  मानी
जाती है। अगर आपको भी मूत्र  संबंधित कोई भी समस्या है तो आप शिलाजीत का सेवन अवश्य करें।

8- बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करता है

शिलाजीत का लगातार सेवन करना आपके बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम कर सकता है। शिलाजीत का
प्रयोग अल्जाइमर्स और डिमेंशिया जैसी बुढ़ापे में होने वाली बीमारियों से राहत दिलाता है। शिलाजीत में
एंटीएजिंग और रेज़्युवेनेटिग गुण पाए जाते हैं यह गुण बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में सक्षम होते
हैं।
इन्हीं दोनों गुणो के बदौलत शरीर में नई ऊर्जा भरती है और आप खुद को ऊर्जावान महसूस करते हैं।
प्रतिदिन शिलाजीत का सेवन करने से बढ़ती उम्र के साथ होने वाली परेशानियों से भी छुटकारा पाया जा
सकता है।

9- कमजोर याददाश्त को दूर करें

अपनी रोजमर्रा की भागदौड़ भरी जिंदगी के कारण कई लोग अक्सर चीजों को भूल जाते हैं और कई बार
तो लोग अपने इंपॉर्टेंट पेपर तक भूल जाते हैं। आजकल के असंतुलित खानपान और रोजमर्रा की भागदौड़
भरी जिंदगी की कारण लोग अक्सर तनाव से ग्रसित हो जाते हैं और उनकी याददाश्त भी कमजोर हो
जाती है।  डिमेंशिया भी एक ऐसे ही बीमारी है जो कमजोर याददाश्त के दौरान ही होती है,यह ऐसी
बीमारी है जिसमें  व्यक्ति को चीजों को याद रख पाने में बेहद ही परेशानी होती है। ऐसे में शिलाजीत
एक बेहतर औषधि है जो आपके दिमाग़ की याद करने की क्षमता को बढ़ाता है। शिलाजीत में एक गुण
पाया जाता है जिसे इम्यूनोस्टिम्युलेंट कहते हैं  यह गुण हमारी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और
इसी  गुण के कारण हमारे तंत्रिका तंत्र संबंधी सभी समस्याओं का समाधान हो जाता है। शिलाजीत का

उपयोग शरीर की गंदगी को बाहर निकालती है और साथ ही शिलाजीत का सेवन कमजोर याददाश्त को
ठीक करने में भी किया जाता है।

10- अनिद्रा को करें दूर

कई लोग अपनी रोजमर्रा की भागदौड़ भरी जिंदगी के कारण अक्सर चिंता व तनाव का शिकार हो जाते
हैं जिस कारण उन्हें रात को भी ठीक से नींद नहीं आ पाती। जिन लोगों को रात को ठीक से नींद नहीं
आ पाती या अनिद्रा जैसी कोई शिकायत है तो ऐसे लोगों को शिलाजीत का सेवन रात को सोने से पहले
दूध के साथ अवश्य करना चाहिए।  शिलाजीत में 85 प्रकार के मिनिरल्स पाए जाते हैं जो शरीर को
अनेको प्रकार से लाभ पहुंचाते हैं। अनिद्रा की समस्या टेस्टोस्टोरोन्स हार्मोन की कमी के कारण होती है।
अगर आप नियमित रूप से शिलाजीत का सेवन करते हैं तो आपके शरीर में टेस्टोस्टोरोन्स हार्मोन तेजी
से बढ़ने लगेगा जिससे आपको अनिद्रा जैसी समस्याओं से  छुटकारा मिल जाएगा।

हम उम्मीद करते हैं कि आज की यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी और उम्मीद करते हैं कि
आज कि यह जानकारी आपके लिए बेहद ही लाभदायक साबित होगी  ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *