Top 10 Amazing Benefits Of Kapaalbhati In Hindi #2021

/ / / Top 10 Amazing Benefits Of Kapaalbhati In Hindi #2021

योग हमारे जीवन को पूरी तरह से बदलने की क्षमता रखता है।  आप तो यह जानते होंगे कि प्राचीन
समय से ही योग का हमारे देश में काफी महत्व रहा है। योग का जिक्र हमारे धर्म ग्रंथों में मिल जाता है
प्राचीन समय से ऋषि मुनि ध्यान योग द्वारा भगवान को तक पा लेते थे। इसके अलावा प्राचीन समय
से ही ऋषि मुनियों द्वारा योग और विज्ञान की शिक्षा अपने शिष्यों को सिखाई जाती थी।

आज भले ही जमाना बदल गया है लेकिन बदलती जीवनशैली और अतुलित खान पान के कारण योग हमारे जीवन के
लिए जरूरी हो गया है। प्रतिदिन योग करने से शरीर में कई चमत्कारी बदलाव आते हैं और शरीर हष्ट
पुष्ट रहता है।  योग विज्ञान में कई आसनो द्वारा योग किया जाता है वैसे तो योगासन कई प्रकार के
होते हैं जैसे अनुलोम विलोम, प्राणायाम,ब्रजासन, सूर्यनमस्कार और कपालभाति उनमें से प्रमुख हैं। आज
हम बात करेंगे कपालभाती योगासन के बारे में जैसे ही कपालभाति प्राणायाम  भी कहा जाता है ! वैसे
तो कपालभाती योगासन के अनेको लाभ है  लेकिन  आज हम आपको जानकारी देंगे कपालभाती
योगासन से होने वालें top 10 benefits के बारे में।

नोट – योग करना हमारे शरीर के लिए अच्छा है लेकिन अगर आप किसी लंबी बीमारी या किसी प्रकार
के दर्द से पीड़ित है या आपके शरीर में कहीं पर गंभीर चोट लगी हुई है तो ऐसे में आप योग ना करें।
लंबी बीमारी और गंभीर चोट में योगासन करने से आपको इसका नुकसान भी हो सकता है।  अगर आप
स्वस्थ हैं तभी योग करें।

Top 10 benefits of kapalbhaati in Hindi

1- वज़न कम करने में सहायक

वैसे तो कई सारे योगासन है जो वजन कम करने में सहायक है  लेकिन  कपालभाति योगासन एक ऐसा
योगासन है  जिसका सबसे पहला असर पेट पर पड़ता है । कपालभाती प्राणायाम में  सांस लेनी और
बाहर छोड़नी पड़ती है जिससे हमारे पेट पर अधिक जोर पड़ता है। कपालभाति करनें के दौरान पेट पर
जोर पड़ता है इसीलिए यह पेट की चर्बी को कम करता है इसीलिए जो लोग बढ़ते वजन के कारण

परेशान है ऐसे लोगों को हर रोज 5 मिनट कपालभाति प्राणायाम जरूर करना चाहिए।  प्रतिदिन
कपालभाति प्राणायाम करने से एक महीने में ही आपका काफी वजन कम हो जाएगा।

2- त्वचा को बनाएं चमकदार

आप लोगों ने अधिकतर यह ख्याल किया होगा कि जो लोग प्रतिदिन योगासन करते हैं उन लोगों का
स्वास्थ्य उत्तम रहता है  और साथ ही प्रतिदिन योगासन करने वाले लोगों के चेहरे पर चमक भी रहती
है।  प्रतिदिन योग करने से शरीर में तेजी से ब्लड सर्कुलेशन होता है और शरीर की गंदगी बाहर निकल
जाती है। अगर आपको त्वचा संबंधी कोई समस्या है या आपके चेहरे पर दाग धब्बे,झाइयां पड़ गई है तो
आप कपालभाति योगासन कर सकते हैं।  जब आप कपालभाति को 10-15 दिन लगातार कर लेंगे तब
आपको आपके चेहरे पर इसके परिणाम दिख जाएंगे तब आप खुद यह महसूस करोगे कि आपका चेहरा
पहले से ज्यादा चमक उठा है और आपके चेहरे से दाग धब्बे भी गायब हो चुके हैं।

3- मजबूत पाचन तंत्र के लिए कपालभाति प्राणायाम करें

कपालभाति प्राणायाम एक ऐसा प्रणायाम है जिसे करते वक्त सांस को बाहर छोड़ा जाता है ।
कपालभाति को शरीर से गंदे तत्वों को बाहर निकालने के लिए जाना जाता है। पाचन और उन्मूलन की
प्रक्रिया में कपालभाति की अपनी एक अलग भूमिका है। कपालभाती प्राणायाम पाचन तंत्र की मांसपेशियों
को टोन करने के लिए पहचाना गया है। 2013 में गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिसऑर्डर या जीईआरडी
(गवर्नमेंट industry reaserch and development )के प्रबंधन में कपालभाति प्राणायाम की तकनीक
की भूमिका का सुझाव दिया गया था।
इस रिसर्च में यह बताया गया था कि कपालभाती को जी ई आर डी के औषधि उपचार के साथ संयुक्त
रूप से गंभीर मामलों  के लिए कपालभाति कहीं अधिक प्रभावशाली है।

4- पेट की मांस पेशियों को करता है मजबूत

कपालभाति करते वक्त सास को खींचने और छोड़ने की क्रिया होती है जिससे हमारे शरीर में रक्त का
प्रभाव तेजी से होता है।  रक्त के प्रवाह तेज होने से शरीर में कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता
है। सांस लेने और छोड़ने में पेट की मांसपेशियों का ही ज्यादा इस्तेमाल होता है, जिस कारण हमारी पेट
की मांसपेशियां मजबूत रहती है।

5- फेफड़ों की समस्याओं को दूर करता है

कपालभाति प्राणायाम करने के बाद फेफड़ों से संबंधित जितनी भी समस्याएं सभी का समाधान हो जाता
है। जिन लोगों को फेफड़ों में दर्द रहता है या सांस लेने में परेशानी होती है उन लोगों को कपालभाति
योगासन जरूर करना चाहिए। आजकल के समय में हर जवान से लेकर बुजुर्गो तक कई लोगों को फेफड़ों
संबंधित कई प्रकार की समस्याएं होती है  और कई लोगों को सीने में  हल्का दर्द भी होता है अगर आप
भी इसी प्रकार से फेफड़ों की समस्याओं से जूझ रहे हैं तो आपको हर रोज 5 मिनट कपालभाति
प्राणायाम जरूर करना चाहिए। हालांकि मैं आपको बता देना चाहता हूं कि अगर आप के छाती में कुछ
ज्यादा ही गंभीर दर्द है तो आप इसमें डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।हल्के दर्द में आप कपालभाति
प्रणायाम कर सकते हैं लेकिन गंभीर दर्द में कपालभाति करने से पहले  आपको डॉक्टर की सलाह जरूर
लेनी चाहिए।

6- चिंता व तनाव को दूर करता है

आपने एक कहावत तो जरूर सुनी होगी कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क  निवास करता है। अगर
हमारा शरीर ही स्वस्थ्य नहीं है तो हमारा दिमाग भी स्वास्थ्य कैसे रह सकता है इसीलिए  सबसे पहले
शरीर को स्वस्थ बनाना जरूरी है।  जब हम कपालभाति प्राणायाम और इसी तरह के योगासन करते हैं
तो हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन काफी तेज हो जाता है जिससे हमारे दिमाग को भी फायदा होता है।
कपालभाति प्राणायाम करते वक्त हमें सीधा बैठना पड़ता है जिस स्थिति में हमारा मेरुदण्ड  एकदम
सीधा हो जाता है और आपको तो पता होगा कि मेरुदंड का सीधा कनेक्शन दिमाग से होता है। अगर
आप चिंता और तनाव से जूझ रहे हैं तो आपको हर रोज 5 मिनट कपालभाति प्राणायाम जरूर करना
चाहिए क्योंकि अनेकों रिसर्च में  कपालभाति प्राणायाम  को करने के बाद  लोगों में चिंता व तनाव कम
होते दिखाई दिए है।

7- एसिडिटी गैस और कब्ज जैसी बीमारियों में फायदेमंद

अगर आप भी गैस कब्ज,एसिडिटी,  जैसी गंभीर समस्याओं से जूझ रहे हैं तो आपको हर रोज
कपालभाति प्राणायाम जरूर करना चाहिए। कपालभाति करने के दौरान सारा जोर पेट पर पड़ता है जिससे
पेट की मांसपेशियां मजबूत बनती है।पेट की मांसपेशियों के मजबूत बनने से पाचन क्रिया अच्छी होने
लगती है। सारा खेल पाचन क्रिया का ही है अगर हमारा पाचन ठीक है तो हमें कभी भी गैस एसिडिटी
कब्ज जैसी बीमारियां नहीं होंगी। इसीलिए कपालभाति प्राणायाम करने से पेट संबंधित  समस्याएं दूर हो
जाती हैं।

8- आलस को दूर करता है

अक्सर योग करने वाले लोग तंदुरुस्त रहते हैं  और साथ ही आलस से कोसों दूर रहते हैं। इसके उलट
जो लोग योग या अन्य एक्सरसाइज नहीं करते वह लोग अक्सर अलसी ही होते हैं। अगर आपको अपने
शरीर से आलस को दूर करना है तो आप हर रोज कपालभाति प्राणायाम जरूर करें। कपालभाति प्राणायाम
करने से आप खुद को तरोताजा महसूस करते हैं।अगर आप सुबह सिर्फ  5 मिनट कपालभाति प्राणायाम
करते हैं तो आप सारा दिन अपने आप को एनर्जेटिक महसूस करेंगे।

9- रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएं

कपालभाती प्रणायाम का सबसे बड़ा काम हमारे इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करना है। कपालभाति
हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कई बीमारियों से हमारी रक्षा करता है।कपालभाति
प्राणायाम करने से बॉडी डिटॉक्स होती है और हमारी इम्यूनिटी बूस्ट होती है। वैसे तो हर प्रकार के
योगासन आपकी पेट के सिस्टम को मजबूत ही करते हैं, लेकिन कपालभाति एकमात्र ऐसा योगासन है
जिसे करने के दौरान जिसका सबसे ज्यादा प्रभाव पेट पर ही पड़ता है। पेट ही वह एक केंद्र बिंदु है जहां
से हमारी इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है। इसीलिए प्रतिदिन कपालभाति प्राणायाम आपके इम्युनिटी
सिस्टम को बेहतर बना सकता है।

10- बालों का झड़ना रोके

जैसा कि आप सभी जानते होंगे कि योग करने से हमारा ब्लड सर्कुलेशन सही होता है। आप किसी भी
प्रकार का योगासन करें आपका ब्लड सर्कुलेशन हर प्रकार के योगासन करने से बेहतर ही होगा और
कपालभाति करने से पूरे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सही ढंग से होता है।  हमारे बाल झड़ने का कारण ही
ब्लड सर्कुलेशन का धीमा होना है, जब हमारे सिर तक ब्लड नहीं पहुंच पाता उसी स्थिति में हमारे बाल
झड़ते हैं और अक्सर समय से पहले ही सफेद होने लगते हैं।  कपालभाति प्राणायाम में आपका ब्लड
सर्कुलेशन ठीक होगा  जिससे बालों के झड़ने संबंधित सारी समस्याएं खत्म हो जाती हैं ।  बालों से झड़ने
को लेकर यदि आपको कोई समस्या है तो इस स्थिति में आप शीर्षासन भी कर सकते हैं जोकि बालों से
झड़ने संबंधित समस्याओं के लिए सबसे बेहतर आसन माना जाता है।

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा बताएं गई जानकारी पसंद आई होगी और साथ ही यह उम्मीद
करते हैं कि आप अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए प्रतिदिन सुबह योग जरूर करेंगे। धन्यवाद।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *