Top 10 Amazing Benefits Of Giloy In Hindi #2021

/ / / Top 10 Amazing Benefits Of Giloy In Hindi #2021

आयुर्वेद में ना जाने कितनी ऐसी जड़ी -बूटियां मौजूद है जो बड़े से बड़े बीमारियों से लड़ने में
सक्षम है और साथ ही यह जड़ी बूटियां इतनी कारगर है कि इनके लगातार सेवन से हमारे शरीर में
अनेकों  चमत्कारी बदलाव भी देखने को मिलते हैं।

आयुष मंत्रालय ने पिछले साल कुछ ऐसी जड़ी बूटियों पर रिसर्च की थी जो जड़ी बूटियां सक्षम हो
सकती हैं कोरोनावायरस से लड़ने में! उन्हीं जड़ी बूटियों में से एक है गिलोय। गिलोय जिसका वैज्ञानिक
नाम-Tinospora cordifolla है इसके अलावा इसे मधुपर्णी, गुडुची,अमृता, रसायनी जैसे कुछ नामों से भी
जाना जाता है।

Amazing Benefits Of Giloy

आप में से ज्यादातर लोगों को गिलोय के बारे में अक्सर पता होगा लेकिन शायद ही आप में से
ज्यादातर लोगो को इसके चमत्कारी फायदे पता होंगे।  आज हम गिलोय के कुछ ऐसे टॉप 10
चमत्कारी फायदे बताने जा रहे हैं जो आपको जरूर जानने चाहिए।

नोट – दोस्तों आपको एक महत्वपूर्ण बात बता देना चाहता हूं, गिलोय से संबंधित सारी जानकारी इंटरनेट और किताबों से जुटाई है कुछ दवाइयों का नकारात्मक परिणाम भी होता है इसीलिए इसका प्रयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

Top 10 benefits of giloy in hindi

1-चोट से उभारने में सहायक

कई बार हम कहीं पर गिर जाते हैं और हमें छोटी मोटी चोट लग जाती है और अगर हमने उसका सही
समय पर ट्रीटमेंट नहीं किया तो उस चोट के स्थान पर थोड़ा मांस पक जाता है तो ऐसे में गिलोय हमारे
लिए गिलोय किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है। चोट लगने पर गिलोय के इस्तेमाल से कुछ दिनों में
ही घाव भरने लग जाता है।

2-इम्युनिटी को बढ़ाने में सहायक

गिलोय एक ऐसी औषधि है जिसे इम्यूनिटी बूस्टर भी कहा जाता है और यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को
बढ़ाने का भी काम करती है। अगर आप बुखार या सर्दी जुखाम से पीड़ित है या आपको खांसी है तो ऐसे
में गिलोय का सेवन  आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं होगा। सर्दी,जुकाम, बुखार के आने पर आप
तुलसी के पत्तों के साथ गिलोय के  डंठल को पानी के साथ किसी बर्तन में उबाल लें  और तब तक
उबालें जब तक कि पानी आधा ना हो जाए ऐसा करने से एक काड़े का निर्माण होता है जो आपको सर्दी
-जुकाम, बुखार,खांसी में आराम दिलाएगा।

3- खून की कमी को दूर करता है गिलोय

बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जिनके शरीर में खून सही से नहीं बन पाता है जिस कारण से एनीमिया जैसा
रोग हो जाता है गिलोय में ग्लूकोसाइड और टीनोस्पोरिन, पामेरिन के साथ टीनोस्पोरिक एसिड भी भरपूर
मात्रा में होता है इसीलिए एनीमिया के रोगीयों को गिलोय का सेवन लगातार करते रहना चाहिए क्योंकि
गिलोय के लगातार सेवन से शरीर में टीनोस्पोरिक एसिड की कमी पूरी हो जाती है इसीलिए गिलोय को
पीसकर फिर पानी के साथ का सेवन करने से खून की कमी दूर हो जाती है।

4-अस्थमा के रोगियों के लिए राहत है गिलोय

गिलोय एक ऐसी औषधि है जिसमें भारी मात्रा में एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं एंटी इन्फ्लेमेटरी
तत्व वे तत्व होते हैं जिनसे सांसों से संबंधित समस्याओं में राहत मिलती है।
गिलोय फेफड़ों को साफ करने के साथ ही अनचाहे कब्ज़ पर भी कंट्रोल करता है इसीलिए अस्थमा के
रोगियों को गिलोय के सूखे डंठल का इस्तेमाल करना चाहिए। गिलोय के लगातार सेवन से अस्थमा के
रोगियों के लिए यह एक बड़ा वरदान साबित हो सकता है।

5- डेंगू से बचाता है गिलोय

दोस्तों आयुष मंत्रालय ने कोरोनावायरस से लड़ने के लिए कुछ चुनिंदा जड़ी बूटियों पर रिसर्च की थी ज़िन
चुनिंदा जड़ी -बूटियों में गिलोय भी है।  गिलोय  बुखार में तो राहत दिलाता ही है साथ ही वैज्ञानिकों का
यह मानना है कि गिलोय के लगातार सेवन से कोरोनावायरस से भी बचा जा सकता है।

दोस्तों शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि गिलोय डेंगू से पीड़ित रोगियों के लिए एक रामबाण
औषधि है। डेंगू के दौरान रोगी का शरीर तपने लगता है और गिलोय में मौजूद एंटीपायरेटिक तत्व बुखार
के मरीजों के लिए काफी मददगार होते हैं साथ ही इम्युनिटी को बूस्ट भी करते हैं जिससे डेंगू के मरीज
को जल्दी ही आराम मिल जाता है।

डेंगू के मरीज पहले गिलोय के तने को काट कर रख कर ले उसके
बाद उसको अच्छे से धो कर किसी एक बर्तन में पानी रखकर उसे उबाल लें और तब तक उबालें जब
तक कि पानी आधा ना हो जाए उबलते पानी के साथ पानी का रंग भी  गिलोय का कारण हरा हो
जाएगा।
उसके बाद आपको उस पानी को छान लेना है और फिर इसका लगातार सेवन करना है। इस तरह से
गिलोय के लगातार सेवन से डेंगू के मरीजों को जल्द ही राहत मिलती है।

6- पीलिया को करता है ठीक

गिलोय एक ऐसी औषधि है जो पीलिया के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है।  पीलिया के रोगियों को तेज
बुखार आता है जिस कारण उनका शरीर तपने लगता है और उनका  शरीर का रंग भी हल्का पीला हो
जाता है दोस्तों ऐसे में गिलोय का सेवन किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है। गिलोय की पत्तियां
हल्का सुपारी की पत्तियों की तरह होती है।पीलिया से ग्रसित मरीज सबसे पहले गिलोय की पत्तियों को तोड़
लें और उसके बाद उसे पीस लें फिर उसके बाद उसे पानी में उबालकर इसका सेवन करें।
गिलोय के पीलिया में प्रतिदिन सेवन करने से 1 हफ्ते के अंदर ही पीलिया से राहत मिल जाती है।

7- डायबिटीज को करता है कंट्रोल

आज के दिन में भारत हर तीसरे इंसान को डायबिटीज है इसलिए गिलोय को डायबिटीज के रोगियों के
लिए प्रमुख कारगर औषधि माना जाता है। गिलोय एक हाईपोग्लिसमिक एजेंट के रूप में काम करता है।

डायबिटीज के रोगियों को अपने रक्त शर्करा (ब्लड शुगर )के उच्चतम स्तर को कम करने के लिए
गिलोय के जूस को जरूर पीना चाहिए।

8- आंखों के लिए फायदेमंद है गिलोय

दोस्तों आज के समय में काफी लोगों के आँखों पर चश्मे लग चुके हैं फिर वह चाहे स्टूडेंट हो या कोई
ऑफिस में काम करने वाला कर्मचारी नजरों की समस्या आज की डेट में हर किसी के लिए आम बात हो
चुकी है। गिलोय को आंखों के लिए बेहद ही फायदेमंद औषधि बताया जाता है यह आंखों की रोशनी बढ़ाने
में मदद करता है। गिलोय के जूस का लगातार सेवन करने से आंखों से संबंधित बीमारियों से छुटकारा
मिल जाता है।  आंखों की समस्या में गिलोय का इस्तेमाल पानी में उबालकर उसे ठंडा करके फिर उस
पानी को पलकों पर लगाकर किया जाता है ऐसा नियमित रूप से करने से आंखों की समस्या से छुटकारा
मिल जाता है।

8- गठिया में राहत दिलाता है

गिलोय का लगातार इस्तेमाल गठिया से पीड़ित रोगियों के लिए  किसी वरदान से कम नहीं है। जो लोग
गठिया से पीड़ित हैं तो ऐसे लोगों को गिलोय का सेवन अवश्य करना चाहिए। गिलोय में सूजन को कम
करने के साथ-साथ गठिया रोग से लड़ने के गुण भी पाए जाते हैं  जो कि गठिया के दर्द और साथ ही
जोड़ों में दर्द से राहत दिलाने में कामयाब होते हैं। इसीलिए गठिया के रोगियों को गिलोय का सेवन
प्रतिदिन करना चाहिए।

9- खून को साफ करता है गिलोय

गिलोय एक ऐसी औषधि है जो एंटी ऑक्सीडेंट की तरह काम करती जो कि आपको दाग़ -धब्बो और
चेहरे पर पड़ी झुर्रियों से छुटकारा दिलाती है। चेहरे पर झुर्रिया तो उम्र बढ़ने के साथ पड़ती हैं  लेकिन
कई लोगों के चेहरे पर बढ़ती उम्र से पहले ही झुर्रिया पड़ने लगती है और साथ ही कई  दाग धब्बे चेहरे

पर अपना घर बना लेते हैं और यह सब खून के साफ ना होने के कारण होता है। गिलोय खून को साफ
करता है इसीलिए गिलोय का लगातार सेवन आपके चेहरे से झुर्रियां व दाग-धब्बो को गायब कर सकता
है।

10- पाचन तंत्र को मजबूत करता है

गिलोय डाइजेशन से जुड़ी हुई सभी प्रकार की समस्याओं को दूर करने में सहायक है। प्रतिदिन गिलोय के
जूस के सेवन से पाचन क्रिया से जुड़ी सभी समस्याएं जैसे- कब्ज और गैस नहीं होती और पाचन क्रिया
भी मजबूत रहती है।  गिलोय का इस्तेमाल यदि गुड़ और आंवला के साथ किया जाए तो यह पाचन
क्रिया के संबंध में और भी अधिक फायदेमंद हो जाता है।

 

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *